The Rise of Nationalism in Europe | Europe Me Rashtravad Ka Uday Notes

प्रिय विद्यार्थियों, आपका हमारे पोर्टल पर हार्दिक अभिनन्दन | जैसा कि आप जानते हैं | हमारी टीम के द्वारा आपको हमेशा क्वालिटी स्टडी मैटेरियल उपलब्ध करवाया जाता हैं | इस अध्याय में हम यूरोप में राष्ट्रवाद के बारे में जानेंगे | (Europe Me Rashtravad)

फ्रेड्रिक सॉरयू ने चार चित्र बनाएं | जिससे सपनों के संसार की रचना की | यह जनतांत्रिक और सामाजिक गणतंत्रों से मिलकर बना था | सॉरयू ने इस संसार को यूटोपिया कहा | यह कल्पना का संसार हैं जिसका होना लगभग असंभव हैं | इनके शब्दो से एक नया शब्द निकल कर आता हैं, निरकुंशवाद |

निरकुंशवाद का अर्थ – ऐसी शासन व्यवस्था जिस पर कोई अंकुश नहीं होता | उदाहरण के लिए, आप कहे की उस पर किसी का नियंत्रण नहीं हैं| अर्नेस्ट रेनन ने 1882 में सॉबॉन विश्वविद्यालय में एक व्याख्यान दिया था | यही बाद में “राष्ट्र क्या हैं” शीर्षक से निबंध पब्लिश होता हैं | (Europe Me Rashtravad)

Download Vivaan Classes – Class 10 Application :- Click Here

इसके अनुसार राष्ट्र समान भाषा, नस्ल, धर्म एवं क्षेत्र से बनता हैं | यहीं पर एक नया शब्द निकल कर आता है, जनमत – संग्रह |

जनमत – संग्रह : –

प्रत्यक्ष मतदान जिसके जरिये एक क्षेत्र के सभी लोगों से प्रस्ताव को स्वीकार या अस्वीकार करने के लिए पूछा जाता हैं | जनमत – संग्रह कहलाता हैं |

फ्रांस की क्रांति :-

राष्ट्रवाद की पहली स्पष्ट अभिव्यक्ति 1789 में हुई थी | 1789 में ही फ्रांसीसी क्रांति हुई थी | यह राजतन्त्र के खिलाफ यूरोप की पहली क्रांति थी | इस समय यहां पर निरंकुश राजा का शासन था | जनता चाहती थी शासन को उखाड़ फेंका जाए |

पितृ भूमि तथा नागरिक जैसे शब्दों का इस्तेमाल किया गया | जिससे समस्त जनता को एक ध्वज के नीचे खड़ा किया जा सके | मध्य शिक्षित वर्गों ने जैकोबिन क्लब की स्थापना की |

1797 में नेपोलियन ने इटली पर हमला किया | 1804 में एक नागरिक संहिता दी | जिसे नेपोलियन की संहिता कहा जाता है |

यातायात और संचार व्यवस्था में सुधार किया गया | श्रेणी संघों का नियंत्रण हटा दिया गया | एक समान कानून व्यवस्था बनाए गई |

एक राष्ट्रीय मुद्रा का चलन शुरू हुआ | यह सभी बदलाव नागरिक संहिता के कारण हुए |

DescriptionDownload
Link
Book Full Chapter In HindiClick Here
Book Full Chapter In EnglishClick Here
Full Chapter Solutions In HindiClick Here
Full Chapter Solutions In EnglishClick Here
Chapter Quiz In HindiClick Here
Chapter Quiz In EnglishClick Here

An aspiring Teacher formed an obsession with book solutions, videos, Notes, Quizes and Helping Beginners To Build the Amazing World.

Leave a Comment